छत्तीसगढ़लाइफ स्टाइल

जिला मुख्यालय से लगे मालगांव में पेयजल संकट गहराया, विफल साबित हो रही नल जल योजना

दिनेश गुप्ता, जगदलपुर। जिला मुख्यालय जगदलपुर से 8 किलोमीटर पर बसा ग्राम पंचायत मालगांव जनपद पंचायत भवन का कार्य मुख्यालय ग्राम रहा है। यहां सरकार की किसी भी योजना, विकास कार्य को पहले सक्रिय किया जाता है। विगत 15 वर्षीय भाजपा सरकार ने ग्राम मालगांव को करोड़ों की सौगात दिया। जिससे ग्राम पंचायत को विकास कार्य में बल मिला। आज की स्थिति में ग्राम में सभी जगह सड़क तथा गलियां पक्की हो गई हैं। परंतु आज हमारे गांव में करोड़ों रुपए लागत से बना लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग का नल जल योजना पूरी तरह से विफल हो गई है।

पानी टंकी खराब हो गई है। पानी भरने के लायक नहीं है। लगभग 5000 लोगों को पानी देने वाली टंकी ही सही नहीं है। ना ही पानी निकालने वाला पंप, विगत कई दिनों से ग्राम वासियों की लगातार शिकायत के बाद भी पंचायत विभाग को टिका रहे हैं और विभाग पंचायत को पंचायत और विभाग के बीच में ग्राम में पानी की समस्या हो गई है। जिससे ग्रामीणों को पानी के लिए पानी के लिए यहां वहां भटकना पड़ रहा है।

आयरन युक्त बोरिंग का पानी पीने को मजबूर

ना चाहते हुए भी आयरन युक्त बोरिंग का पानी पीने को मजबूर हो रहे हैं। ग्राम मालगांव की सभी पारा-मोहल्ला में पानी देने वाला सरकार की यह योजना विफल है। यह महत्वपूर्ण योजना विभागीय अधिकारी एवं ठेकेदार के निष्क्रियता की भेंट चढ़ती जा रही है। डा. रमन सिंह की विगत 15 साल की भाजपा सरकार का विकास को गति देने वाली सरकार में भ्रष्टाचार स्पष्ट झलक रहा है।

इसकी शिकायत विगत वर्ष जन समस्या निवारण शिविर में किया गया था। इस संबंध में एसडीओ लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के एसपी मंडावी के द्वारा कहा गया कि हम यह योजना को ग्राम पंचायत मालगांव सचिव सरपंच को हैंड ओवर कर चुके हैं और हर वर्ष ₹7000 मेंटेनेंस चार्ज के लिए ग्राम पंचायत के खाते में जमा करवाए जाते हैं। अब ग्राम पंचायत इस योजना की देखरेख में काम करवाए ना करवाए विभाग की कोई जवाबदारी नहीं है।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close