छत्तीसगढ़बड़ी खबर

अब विशाखापट्टनम में फंसे 9 युवकों ने प्रशासन लगाई मदद की गुहार

lockdown में फंसे युवाओं ने कागज में लिख कर भेजा डिटेल्स

देवभोग से लतीफ़ मोहम्मद की रिपोर्ट-

मैनपुर। लॉक डाउन (lock down )   विशाखापट्टनम में फंसे  9 युवकों ने छत्तीसगढ़ शासन (Chhattisgarh government ) से मदद की गुहार लगाई  है ।गरियाबंद  जिले के मैनपुर विकासखंड के झरगांव के रहने वाले यह सभी युवक विशाखापट्टनम ( Vishakhapattanum) के एसपीसीएल (SPCL) रिफाइनरी में काम करने गए थे। जहां वे लाक डाउन में फंस गए हैं । इन लोगों ने शासन प्रशासन से मदद की गुहार लगाई है।

क्या है पूरा मामला

ये सभी 9 युवक रोजगार के तलाश में विगत कुछ महीने पहले विशाखापट्टनम गए हुए थे और वहां एसपीसीएल(रिफायनरी)कंपनी में मजदूरी कर रहे थें।लॉक-डाउन के बाद कंपनी बंद होने से युवकों को भोजन संबंधी एवं आर्थिक समस्या हो रही हैं। इससे युवकों ने जिला प्रशासन से मदद की गुहार लगाते हुए, गांव वापस लाने की बात कही हैं। सभी युवक विशाखापट्टनम के काजुवाका के एसपीसीएल कंपनी के लेबर कैम्प में हैं।

लॉक डाउन से बढी  युवकों की परेशानियां

कोरोना वायरस से लॉक डाउन से युवकों की परेशानियां बढ़ गई हैं,उन लोगों की मुश्किलें और बढ़ गई हैं जो लोग अपना गांव-घर छोड़कर दूसरे शहरों या राज्यों में रोजगार के तलाश में गए थे,लॉकडाउन के कारण ऐसे लोगों के रोजगार पर ताला लग गया है,ऐसी स्थिति में उन्हें अपने घर लौटने के अलावा कोई चारा नहीं है,लेकिन इसमें परेशानी ये है कि लोग अपने गांव लौटें कैसे क्योंकि यातायात के सभी साधन ठप हैं।

 

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close