छत्तीसगढ़बड़ी खबर

कांकेर में बारिश और तूफान ने मचाई तबाही, पेड़ गिरे घरों की कवेलू उड़ी फसलों व मक्के की खेती तबाह

घरों की मरम्मत करने में लगे लोग, किसानों से सरकार से लगाई मदद की गुहार

कांकेर से विप्लब कुंडू की रिपोर्ट-

कांकेर। कांकेर के छोटेबेठिया थाना क्षेत्र में शुक्रवार की रात तूफानी बारिश (Storm with rain) ने खूब तबाही मचाई। कई पेड़ धराशायी (Tree Fallen) हुए। घरों की छतों पर रखी एडिवेस्टर शीट (Adivester sheet) उड़कर दूर जा गिरी। मक्के और सब्जियों की फसलें तबाह हो गईं। किसानों (farmers) को इससे भारी नुकसान हुआ है। कांकेर के किसानों से सरकार से मदद की गुहार लगाई है।

मक्के की फसल चौपट

किसान सुदीप्तो बनर्जी ने बताया कि उसने 4 एकड़ में मक्के (maize) की खेती की थी। पूरे खेत में एक भी मक्के का पेड़ सीधा नहीं रह गया। सब के सब जमीन पर आ गिरे हैं। ऐसे में भारी नुकसान हुआ है। इसके अलावा उसके घर की कवेलू भी रात में उड़ गई।

सब्जी की फसल भी बर्बाद

छोटेबेठिया इलाके के किसान राजू दास ने बताया कि उन्होंने लाल साग और कान्हा भाजी तथा टमाटर व बैगन की खेती (vegetable cultivation)  की थी। सारी फसल खराब हो गई। हालत ये है कि खेत में जाने पर सिर्फ रोना आता है। ऐसे में उसने भी सरकार से मदद की गुहार लगाई है।


गिरे पेड़ों को हटाने में लगे लोग

रात की तूफानी बारिश के कारण कई पुराने पेड़ गिर गए थे। उनको हटाने का काम सुबह से ही जारी है। सड़कों पर गिरे इन पेड़ों से धन जन की कोइ्र हानि नहीं हुई। इसके पीछे कारण ये रहा कि रात में सभी अपने अपने घरों में सो रहे थे। इसी वजह से बच गए। कुल मिलाकर पूरे इलाके में काफी नुकसान हुआ है। लोगों ने प्रशासन और सरकार से मदद की गुहार लगाई है।

#बारिश, #तूफान, #घरों की छत, #सब्जियों की खेती, #मक्का ,#किसान,# Rain, #storm,# roof of houses, #vegetable #cultivation, #maize,# farmers,

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close