क्राइमछत्तीसगढ़बड़ी खबरब्यूरोक्रेट्सब्रेकिंग न्यूज़

EOW ने रायपुर और बिलासपुर स्थित वरिष्ठ अधिकारी समुन्द्र सिंह के घर मारा छापा, कांग्रेस नेता नितिन भंसाली ने लगाए थे आरोप

रायपुर। आबकारी विभाग में पदस्थ रहे वरिष्ठ अधिकारी के संभावित ठिकानों पर ईओडब्ल्यू ने छापा मारा है। आज सुबह तड़के ईओडब्ल्यू ने रायपुर और बिलासपुर स्थित समुन्द्र सिंह के घर छापा मारा है। रायपुर के बोरियाकला स्तिथ मकान नम्बर पीपल 172 के साथ साथ बिलासपुर के नेहरू नगर स्तिथ पारिजान एक्सटेन्शन के मकान नम्बर एमआईजी 21 में भी ईओडब्ल्यू की छापा कार्यवाही जारी है। इधर पूर्व आबकारी अधिकारी समुन्द्र सिंह फरार है। जिसकी पुलिस जांच कर रही है।

बता दें कांग्रेस नेता नितिन भंसाली ने 119 पेज के दस्तावेजो के साथ इस घोटाले की शिकायत मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और ईओडब्ल्यू से की थी। भाजपा सरकार में रिटायमेंट के बाद करीब 9 साल संविदा में सेवाएं देकर लिकर किंग को मुनाफा देने वाले समुंदर सिंह के निवास पर ईओडब्ल्यू और एसीबी की संयुक्त टीम ने छापा मारा है। टीम के सदस्य घर की जांच में जुटे है।

रायपुर में देवेंद्र नगर स्थित शासकीय आवास, देवपुरी स्थित रावतपुरा कॉलोनी समेत बोरियाकलां स्थित मकानों पर भी ईओडब्ल्यू की दबिश है। संविदा पर विशेष कर्तव्य अधिकारी बन माल समेटने वाले रिटायर्ड आबकारी अधिकारी समुंदर सिंह की मुश्किलें बढ़ने लगी हैं, रायपुर से आई एसीबी और ईओडब्ल्यू की टीम ने नेहरू नगर स्थित पारिजात एकटेंशन मकान नम्बर एमआईजी 21 में छापा मारा है, घर के भीतर दस्तावेजो की जांच कर रहे हैं। उनके बिलासपुर स्थित अन्य ठिकानों पर भी टीम के अधिकारियों की ने दबिश दी है, इससे पूर्व समुंदर सिंह तलाश में एसीबी और ईओडब्ल्यू की टीम ने उनके राजधानी स्थित कई ठिकानों पर दबिश दी थी।

विशेष कर्तव्यस्थ अधिकारी के पद पर पदस्थ रहते हुए घोटाले के आरोप

कांग्रेस नेता नितिन भंसाली का शिकायत के आधार पर आज सुबह ईओडब्ल्यू की टीम ने आबकारी विभाग के अधिकारी समुन्द्र सिंह के संभावित ठिकाने पर छापामार कार्यवाही की है। कांग्रेस नेता नितिन भंसाली ने आरोप लगाए थे कि बीजेपी शासनकाल में संविदा में 9 वर्षो तक आबकारी विभाग में विशेष कर्तव्यस्थ अधिकारी के पद पर पदस्थ रहते हुए कई घोटाले किये है।

उन्होंने कहा कि समुंदर सिंह लिकर पोलिसी, शराब बिक्री, प्रॉफिट मार्जिन, निम्न श्रेणी की शराब को आईएमएल की केटेगरी में रखते हुए शराब ठेकेदारों ओर निर्माताओं को लाभ पोहचाने का काम किया है। साथ हीं टैक्स चोरी करने के संबंध में लगभग 5 हजार करोड़ रूपये के घोटाले को अंजाम देने के आरोपों की अधिकारी समुन्द्र सिंह ने 119 पेज के दस्तावेजो के साथ शिकायत की थी।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार यह मकान नागपुर में पदस्थ एक विजलेंस अधिकारी का है जहां पर समुन्द्र सिंह लगातार आया जाया करते थे, मकान में ईओडब्ल्यू की टीम दस्तावेजो की जांच कर जब्ती की कार्यवाही कर रही है। ईओडब्ल्यू और शासन को फरार समुन्द्र सिंह की तलाश है जो सरकार बदलते ही अपना इस्तीफा देकर कही फरार हो गए है।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close