छत्तीसगढ़बड़ी खबरहेल्थ

5 दिन में बनाई लैब, मेडिकल कॉलेज रायपुर में पहले दिन हुआ कोविड-19 के 22 सैंपलों का टेस्ट

पंडित जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज के माइक्रोबायोलॉजी विभाग में किया चमत्कार

 

रायपुर।  मंगलवार से   पं.जवाहरलाल नेहरू स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय     (J. L. N. M. C. Raipur  )  रायपुर के माइक्रोबायोलॉजी विभाग में  कोविड-19  (COVID 19 ) सैम्पल जांच की सुविधा शुरू हो गई है। मेडिकल कॉलेज के माइक्रोबायोलॉजी  ( Microbiology ) विभाग स्थित वायरोलॉजी लैब में कोविड-19 सैम्पल जांच सुविधा के अंतर्गत पहले दिन 22 सैम्पलों (sample  ) की जांच की गई। मेडिकल कॉलेज के माइक्रोबायोलॉजी विभागाध्यक्ष डॉ.अरविंद नेरल ने कहा कि छत्तीसगढ़  ( Chhattisgarh ) में कोरोना संकट की स्थिति को देखते हुए सभी तकनीकी प्रोटोकॉल और आईसीएमआर (इंडियन काउंसिल आफ मेडिकल रिसर्च) के दिशा-निदेर्शों के साथ केवल 4 से 5 दिनों में इस लैब को विकसित किया है।

 लैब में  कौन- कौन सी सुविधाएं

इंडियन काउंसिल आफ मेडिकल रिसर्च की ओर से मान्यता प्राप्त इस जांच लैब में अत्याधुनिक आरटी-पीसीआर मशीन,तीन बायो सेफ्टी कैबिनेट,तीन लेमिनार एयर फ्लो कैबिनेट, ड्राई बाथ इनक्यूबेटर,माइनस 80 डिग्री(-80?) एवं माइनस 20 डिग्री (-20?) सेंटीग्रेड के दो रेफ्रिजरेटर और अन्य उपकरण कोविड-19 जांच के लिए लगाए गए हैं।यह आईसीएमआर की ओर से अनुमोदित बीएसएल 2/  2 लैब (जैव सुरक्षा का वह स्तर जिसमें आवश्यक जैव रासायनिक सावधानियां बरती जाती हैं) है, जिसे भविष्य में अन्य वायरल रोगों के निदान के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकेगा।

डॉ.नेरल ने कहा कि प्रयोगशाला में कोविड -19 सैम्पल जांच के दौरान जैव सुरक्षा के वैश्विक एहतियात का पालन करते हुए व्यक्तिगत सुरक्षा के उपकरण अर्थात पीपीई किट पहनना अनिवार्य है। ताकि उन्हें किसी प्रकार का संक्रमण न हो। साथ ही साथ सैम्पल जांच में लगे कुछ लोग तब तक अपने घर नहीं जा सकेंगे, जब तक जांच पूरी न हो जाए। इसके बाद उन्हें 14 दिनों के लिए क्वारेंटाइन में जाना होगा। उसके बाद ही वे अपने घर जा सकेंगे।

16 लोगों  की बनाई गई  टीम

कोविड – 19 की जांच के लिए 16 लोगों की टीम बनाई गई है। इस टीम में माइक्रोबायोलॉजिस्ट, साइंटिस्ट, लैब टेकनीशियन और लैब असिस्टेंट शामिल हैं। कोरोना सैम्पल जांच दो शिफ्टों में होगी।  इस लैब में रायपुर समेत बिलासपुर संभाग एवं सरगुजा संभाग के कोरोना सैम्पल की जांच की जाएगी। यह जांच सुविधा पूर्णत: निशुल्क है।

 

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close